Maa Ki Aarti Navratri Aarti Song Lyrics

Maa Ki Aarti (Ambe Mata Ki Aarti)/Navratri Aarti Song: मां अम्बे की अराधना के नौ दिन आज से शुरू हो चुके हैं। इन नौ दिनों में देवी मां के विभिन्न स्वरूपों की पूजा की जायेगी। लोग अपने अपने तरीकों से मां को प्रसन्न करने के लिए पूजा पाठ करेंगे। लेकिन एक चीज ऐसी है जिसके बिना मां दुर्गा की पूजा पूरी नहीं मानी जाती है वो है मां की आरती। लेकिन मां की आरती उतारने से पहले भगवान गणेश जी की आरती भी जरूर कर लें। देखिए अम्बे तू है जगदम्बे काली आरती और मां दुर्गा के मंत्र…

अम्बे तू है जगदम्बे काली, जय दुर्गे खप्पर वाली,
तेरे ही गुण गावें भारती, ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती।
तेरे भक्त जनो पर माता भीर पड़ी है भारी।
दानव दल पर टूट पड़ो मां करके सिंह सवारी॥
सौ-सौ सिहों से बलशाली, है अष्ट भुजाओं वाली,
दुष्टों को तू ही ललकारती।
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती॥

माँ-बेटे का है इस जग में बड़ा ही निर्मल नाता।
पूत-कपूत सुने है पर ना माता सुनी कुमाता॥
सब पे करूणा दर्शाने वाली, अमृत बरसाने वाली,
दुखियों के दुखड़े निवारती।
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती॥

नहीं मांगते धन और दौलत, न चांदी न सोना।
हम तो मांगें तेरे चरणों में छोटा सा कोना॥
सबकी बिगड़ी बनाने वाली, लाज बचाने वाली,
सतियों के सत को संवारती।
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती॥

चरण शरण में खड़े तुम्हारी, ले पूजा की थाली।
वरद हस्त सर पर रख दो माँ संकट हरने वाली॥
माँ भर दो भक्ति रस प्याली, अष्ट भुजाओं वाली,
भक्तों के कारज तू ही सारती।
ओ मैया हम सब उतारे तेरी आरती॥

Maa Ki Aarti Song Detail
Album: Aartiyan
Singer: Anuradha Paudwal
Music Director: Arun Paudwal
Lyricist: Traditional
Music Label: T-Series